कैसे खरीदें नवजात शिशु के झूले?

https://hamarasansar.com/wp-content/uploads/2020/10/��स�-�र�द��-नव�ात-शिश�-��-��ल�_.png

नव�ात शिश� बह�त ह� ��मल �र �र स�व�दनश�ल ह�त� ह�� �सलि� �न�ह�� बह�त ��यादा स�र��षा �र द��भाल �� �र�रत ह�त� ह�। समय �� साथ �न�� द��भाल �ा तर��ा भ� �ध�नि� ह�ता �ा रहा ह�, �न�� लि� �ध�नि� �प�रण भ� � �� ह�� �� �न�� द��भाल म�� सहायता �रत� ह�� ल��िन ��� ���� �स� ह�� �� प�रा��न समय स� �ल� � रह� ह� �र �� भ� �तन� ह� प�रास��ि� ह�। �नम�� स� �� ह� नव�ात शिश� �� ��ल� �� �ल भ� थ� �र �� भ� ह�� बस बदला ह� त� ��ल� �� डि�ा�न �र �सम�� स�विधा��।


��या नव�ात शिश� �� ��ला ��लना ����ा ल�ता ह�?

वास्तव में किसी शिशु झूले में कैसा महसूस होता है इसे शब्दों में बयान करना बहुत मुश्किल है परन्तु, हमारा सदियों का अनुभ­à¤µ यह बताता है कि रोते हुए अधिकांश शिशु झूले में आकर न केवल चुप हो जाते हैं बल्कि प्रसन्न भ­à¥€ लगते हैं। ऐसा माना जाता है कि इस दुनियां में आने से पहले किसी नवजात का अनुभ­à¤µ सिर्फ अपनी माँ के गर्भ­ का ही होता है और झूले में हिलते हुए उसे ऐसा ही अनुभ­à¤µ होता है जैसा कि उसे अपने माँ के गर्भ­ में महसूस होता था।

फोटो में यह झूला भ­à¤¾à¤°à¤¤ में प्राचीन समय से प्रयोग में लाया जाता रहा है। इस झूले के बनावट देखने से यह स्पष्ट होता है कि इस इस तरह का है जिसमें नवजात शिशु अपने आप को सब तरफ से बंद पा कर सुरक्षित महसूस करता है और सो जाता है। यह ऐसा ही है जब बच्चा माँ के गर्भ­ में होता है।

आज भ­à¥€ हमारे देश में नवजात बच्चों को इसी तरह के झूले में रखा जाता है। आपको यह जानकार आश्चर्य होगा कि झूले की यह फोटो अमेरिका की प्रसिद्द रिटेल चेन वालमार्ट की साइट ली गयी है जहाँ इसकी कीमत लगभ­à¤— 250 $ है। इससे आपको सहज ही अंदाजा लग सकता है कि पुराने ज़माने से हमारी समझ कितनी विकसित थी।

शिशु को कितनी देर झूले में रखना चाहिए?

अक्सर यह देखा गया है कि माँ किसी काम में व्यस्त होती है तो बच्चे को पालने में छोड़ देती है ताकि वह सो जाए और काम निबटा सके। लेकिन विभ­à¤¿à¤¨à¥à¤¨ शोध यह कहते हैं कि किसी भ­à¥€ नवजात के लिए माँ की गोद और बाहों में रहने से अच्छी जगह कोई नहीं हो सकती इसलिए शिशु को बहुत लम्बे समय तक झूले में नहीं छोड़ना चाहिए। कम से कम आधे-एक घंटे में अपने गोद में अवश्य लेना चाहिए। झूला कितना भ­à¥€ आरामदायक हो लेकिन माँ की जगह नहीं ले सकता।

प्रत्येक दिन अपने छोटे से एक झूले में बहुत लंबे समय तक बंधे रहने के परिणामस्वरूप, उनके सिर के पिछले हिस्सा चपटा हो सकता है (जिसे प्लागियोसेफली के रूप में जाना जाता है)।

झूले में क्या सावधानियां रखनी चाहिए ?

  • अगर बच्चा बहुत छोटा है अर्थात 6 माह तक का तो झूला ऐसा होना चाहिए जिसमें वह आराम से समा जाये और कोई खाली जगह न रहे। ऐसे झूले में बच्चों को ऐसा ही अहसाह होता है जैसे वह माँ के


Posted from my blog with Exxp : https://hamarasansar.com/life/swings-for-newborn-babies/
H2
H3
H4
3 columns
2 columns
1 column
Join the conversion now